भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अंगिका कविता कोश के दो वर्ष

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

दिनांक 06 मार्च 2018 को कविता कोश सूत्र कार्यक्रम के अंतर्गत स्पाइस विला, मधुसुदन नगर के परिसर में अंगिका कविता कोश के दो सफल वर्ष पूरे होने की खुशी में अंगिका के दिग्गज साहित्यकार जुटे। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता अनूप लाल मंडल जी ने की और संचालन सुधीर कुमार प्रोग्रामर ने किया।

कार्यक्रम का आरंभ दीप प्रज्जवलन से हुआ। मंच को संबोधित करते हुए रत्नेश्वर चौधरी जी ने कहा ललित कुमार और कविता कोश ने अंगिका साहित्य को नया आकाश प्रदान किया है। अशोक कुमार सिंह जी ने इस अवसर पर मंदार के सपूत रामेश्वर झा द्विजेन्द्र का संस्मरण सुनाया। मुख्य अतिथि अनिरुद्ध प्रसाद विमल जी ने सुधीर कुमार प्रोग्रामर, सुप्रिया सिंह वीणा, राहुल शिवाय जैसे युवाओं को अंगिका साहित्य का संवाहक कहा। इस कार्यक्रम में डा. प्रदीप प्रभात, प्रकाश सेन प्रीतम, उचित लाल यादव, सुप्रिया सिंह वीणा, उमाकांत यादव प्रेम, ओमप्रकाश मिश्र, राहुल शिवाय, सुधीर कुमार प्रोग्रामर, हीरा प्रसाद हरेन्द्र, नरेश जनप्रिय, अनिरुद्ध प्रसाद विमल, मनीष कुमार गूँज, अनिता मिश्रा, खूशीलाल मंजर ने अपनी अंगिका कविताओं से लोगों को आनंदित किया। धन्यवाद ज्ञापन सुप्रिया सिंह वीणा के द्वारा किया गया।

Kk-angika-2-varsh-newspaper.jpeg

Kk-angika-2-varsh-program.jpeg