भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अंधी सदी / रमेश चंद्र पंत

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जन्मना
कुछ अर्थ सच में,
रख सकेगा क्या?

निर्वसन मिलती यहाँ
हर रोज़ ही
अक्सर नदी है,
मरुथलों में दूर तक
फैली हुई
अंधी सदी है,

गुलमोहर
कुछ अर्थ अपना,
रख सकेगा क्या?

देह पर अनगिन खरोचें
ढो रहीं
हर क्षण दिशाएँ,
बस! व्यथाएँ-ही-व्यथाएँ
और हैं
शापित कथाएँ,

गीत यह
कुछ अर्थ अपना,
रख सकेगा क्या?