भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

अनिल जनविजय / परिचय

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

श्री अनिल जनविजय जी पिछले तीस साल से मास्को में रहकर रूसी छात्रों को ’हिन्दी साहित्य’ और ’अनुवाद’ पढ़ाते हैं।

श्री अनिल जनविजय जी का परिचय उन्हीं के शब्दों में इस प्रकार हैः-


मैं अनिल जनविजय हूँ । पिछले तीस साल से मास्को में रहता हूँ । रूसी छात्रों को ’हिन्दी साहित्य’ और ’अनुवाद’ पढ़ाता हूँ । मास्को रेडियो का हिन्दी डेस्क देखता हूँ और जीविका के लिए भारतीय आयुर्वेदिक कॉस्मेटिक का थोक-व्यवसाय भी करता हूँ । इसके साथ-साथ कविता कोश और गद्य कोश के सम्पादन का भार भी सम्भालता हूँ ।

हिन्दी और हिन्दी साहित्य के प्रति पूरी तरह से समर्पित हूँ ।

कविता लिखने-पढ़ने में मेरी रुचि है ।

कविताओं का अनुवाद करना भी मुझे पसन्द है ।

बहुत से रूसी, फ़िलिस्तीनी, उक्राइनी, लातवियाई, लिथुआनियाई, उज़्बेकी, अरमेनियाई कवियों की और पाब्लो नेरुदा, नाज़िम हिक़मत, लोर्का आदि कवियों की कविताओं का रूसी और अँग्रेज़ी से हिन्दी में अनुवाद किया है ।

रूसी कविता से भी वैसे ही अच्छी तरह परिचित हूँ जैसे हिन्दी कविता से ।

कविता कोश टीम का सदस्य हूँ ।

कविता कोश या गद्य कोश से सम्बन्धित कोई भी समस्या या सवाल हो तो मुझसे कविता कोश के पते पर सम्पर्क कर सकते हैं : kavitakosh@gmail.com

सादर अनिल जनविजय