भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अर्को साँझ पर्खेर साँझमा / रमेश क्षितिज

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अर्को साँझ पर्खेर साँझमा
Arko Sanjh Parkhera Sajhma.jpg
रचनाकार रमेश क्षितिज
प्रकाशक फाइनप्रिन्ट (दोस्रो स‌ंस्करण)
वर्ष वि‍.स‌ं. २०६७
भाषा नेपाली
विषय
विधा
पृष्ठ ९७
ISBN
विविध
इस पन्ने पर दी गई रचनाओं को विश्व भर के स्वयंसेवी योगदानकर्ताओं ने भिन्न-भिन्न स्रोतों का प्रयोग कर कविता कोश में संकलित किया है। ऊपर दी गई प्रकाशक संबंधी जानकारी छपी हुई पुस्तक खरीदने हेतु आपकी सहायता के लिये दी गई है।