भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अलसाया पड़ा रहता था मैं उनके बिस्तर पर / कंस्तांतिन कवाफ़ी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

सुख देने वाले उस घर में जब भी घुसता था मैं
नहीं रुकता था ठीक सामने वाले उन कमरों में
जहाँ निभाया जाता है कुछ प्रेम का शिष्टाचार
और किया जाता है सबसे बड़ा नम्र व्यवहार

गुप्त कमरों में जा घुसता था तब मैं अक्सर
अलसाया पड़ा रहता था मैं उनके बिस्तर पर
जिन पर निपटाती थीं वे ग्राहकों को अक्सर

अँग्रेज़ी से अनुवाद : अनिल जनविजय