भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

आईदान सिंह भाटी / परिचय

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

नाम : आईदान सिंंह भाटी
पिता : श्री रघुनाथसिंह भाटी
जन्म : 10 दिसम्बर 1952 नोख, जैसलमेर (राजस्थान)
प्रकाशन :
हंसतोड़ा होठां रो सांच (कविता)
रात-कसूंबल (कविता)
आँख हींयै रा हरियल सपना (कविता)
थार की गौरवगाथाएं (इतिहास-कथाएं)
समकालीन साहित्य और आलोचना (आलोचना)
गांधीजी री आत्मकथा (अनुवाद)
राईनोसोर्स (गैंडौ) अनुवाद

संपादन :
जागती जोत (मासिक पत्रिका) राजस्थानी भाषा, साहित्य एवं संस्कृति अकादमी, बीकानेर

सम्मान :
साहित्य अकादेमी, नई दिल्ली अनुवाद पुरस्कार, "आँख हींयै रा हरियल सपना" के लिए साहित्य अकादेमी पुरस्कार और राजस्थानी भाषा साहित्य एवं संस्कृति पुरस्कार, सत्यप्रकाश जोशी कविता सम्मान, रावल हरराज साहित्य सम्मान आद