भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

आप एक धीमी मौत मरने लगते हैं / पाब्लो नेरूदा

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

 
 अक्सर लोग इस कविता को पाब्लो नेरूदा की कविता मानते हैं, लेकिन यह कविता ब्राजीलियाई कवयित्री मार्था मेरिडोस की है।

-- कविता कोश टीम

आप एक धीमी मौत मरने लगते हैं
अगर आप नहीं निकलते सफऱ पर
अगर आप नहीं निकालते पढ़ने के लिए वक़्त
अगर आप ज़िन्दगी की गूँज सुनना बन्द कर देते हैं
अगर आप बन्द कर देते हैं ख़ुद को सराहना

आप एक धीमी मौत मरने लगते हैं
जब आप अपने ही स्वाभिमान को मार देते हैं
जब आप औरों की मदद लेने तक से गुरेज करते हैं

आप एक धीमी मौत मरने लगते हैं
जब आप अपनी आदतों के ग़ुलाम बन जाते हैं
जब आप रोज़ पुरानी राहों पर ही चलते हैं
जब आप नहीं बदलते अपने पुराने ढरेज़्
जब आप की पोशाक से रंगीनियत उड़ जाती है
या आप बन्द कर देते हैं अजनबियों से गुफ्तगू

आप एक धीमी मौत मरने लगते हैं
अगर आप महसूस नहीं कर पाते जुनून को
और उन उतरती चढ़ती भावनाओं को
जिनसे चमक उठती हैं आपकी आँखें
और तेज हो उठती हैं दिल की धड़कनें

आप एक धीमी मौत मरने लगते हैं
अगर आप अपने काम, अपने प्यार से सन्तुष्ट न होने पर
भी, बदलते नहीं हैं ज़िन्दगी जीने का तरीका
अगर आप अनिश्चितता के पक्ष में जोख़िम लेना बन्द कर देते हैं
अगर आप अपने ख़्वाब का पीछा नहीं करते
अगर आप ज़िन्दगी में कम से कम एक बार
समझदारी भरी सलाह से दूर नहीं भागते

सन्दीप कुमार द्वारा अँग्रेज़ी से अनूदित