भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

आम आदमी के जीवन का मोल / इराक्ली ककाबाद्ज़े / राजेश चन्द्र

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मेरे देश में,
जहाँ भरे पड़े हैं विपुल संख्या में
पुजारी और कवि,

एक आम आदमी के
जीवन का मोल

नगण्य है घास-फूस तक से...

अँग्रेज़ी से अनुवाद : राजेश चन्द्र

लीजिए, अब इसी कविता का जार्जियाई भाषा से अँग्रेज़ी अनुवाद पढ़िए
              Irakli Kakabadze

In my homeland,
Where priests and poets
Abound,
A man’s life
Is worth less than straw . . .

Translated from Georgian by Mary Childs