भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

आरता हे आरता सांझी माई आरता / हरियाणवी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

आरता हे आरता सांझी माई आरता
आरते की फूल झवेलन बेल
इतने से भाइयां में कुणसा गोरा
चन्दा गोरा सूरज गोरा गोरा के रनयण काजल भर गेरे