भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

इण्‍डूणी / राजस्थानी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

म्हारी सवा लाख री लूम
गम गयी इण्डूणी

औ इण्डूणी रे कारणे
म्हारी सासू ताना देय
गम गयी इण्डूाणी

ओ इण्डूणी रे कारणे
म्हारो ससुरा रूसो जाय
गम गयी इण्डूणी

ओ इण्डूणी रे कारणे
गयी नणद कुंआ में कूद
 
गम गयी इण्डूणी

ओ इण्डूणी रे कारणे
म्हारो देवर लड़े लड़ाई
गम गयी इण्डूणी

ओ इण्डूणी रे कारणे
म्हारी जेठाणी बोले बोल
गम गयी इण्डूणी