भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

इस तरह / देवी प्रसाद मिश्र

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अब इसको इस तरह से करते हैं जिसे उस तरह से करते आए थे ।
इस तरह से करने का मतलब होगा कि बिल्कुल नए तरह से करना ।
बिल्कुल नए तरह से करने का मायने होगा कि बिल्कुल पुराने तरीके से नहीं करना ।
लेकिन बिल्कुल नए तरीके से बिल्कुल पुराने तरीके को भुला पाना आसान नहीं
होगा। अब देखो- बिल्कुल नए तरीके में बिल्कुल पुराने तरीके के दो शब्द हैं ।
तो जो बिल्कुल नया है वह बिल्कुल नया नहीं हो पाता। मतलब कि बहुत नई
भाषा में मैं, तुम, हम, हमारा, तुम्हारा वगैरह कहाँ बदलते हैं ।
बहुत नई भाषा में बहुत पुरानी चीज़ें बनी रहती हैं। इसलिए बहुत नए मनुष्य
में बहुत पुराने मनुष्य का बहुत कुछ होगा ।
मसलन रक्त का बहना और नंगे होकर नहाना ।