भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

उद्धारक / मदन कश्यप

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हम तुम्हारा उद्धार करेंगे
ज़िन्दा रखा तो जूठन खिला कर
पाँव धुलवा कर तुम्हारा उद्धार करेंगे
मार दिया तो बैंकुण्ठ भिजवा कर
तुम्हारे वंशजों को अपना भक्त बना कर तुम्हारा उद्धार करेंगे

और किसी आफ़त-बिपत बेला-कुबेला ठौर-कुठौर में
तुम्हारे जूठे बेर खा कर भी तुम्हारा उद्धार करेंगे !

(2010)