भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

उनका आना / सुदर्शन वशिष्ठ

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

उनके आने से पहले
पहुँच जाती है ख़बर

वे आ रहे हैं
हटो-हटो।

आते हैं वे
बाढ़ की तरह
तटबँध तोड़ते।

उनके आने से पहले
बँधती आशाएँ
आते सपने
जाने पर उन्नींदी आँखों में
आती किरकिरी।


उनका आना अच्छा
न जाना
रहता है फिर भी इंतज़ार।