भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

एक खिले फूल से / केदारनाथ अग्रवाल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

एक खिले फूल से
झाड़ी के एक खिले फूल ने
नीली पंखुरियों के
 एक खिले फूल ने
आज मुझे काट लिया
 ओठ से,
और मैं अचेत रहा
धूप में