भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

एक ही जिस्म में / डोरिस कारेवा / तेजी ग्रोवर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

तुम्हारा सबसे नाज़ुक अंग
मुझमें पनाह
लेता है,

तुम्हारा सबसे मज़बूत
मुझे घेरे हुए,

हम एक ही
जिस्म में समाए हैं,
जहाँ रूह और सत्व नाचते है ।

हम संसार की थकान से
उबरते हैं,
असुरक्षा की पीड़ा से —

हर सुबह को
पहली की तरह थामते हुए,

हर रात को
अन्तिम मानते हुए ।

अँग्रेज़ी से अनुवाद : तेजी ग्रोवर