भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

ऐसी के जल्दी मचाई हरियाली / हरियाणवी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

ऐसी के जल्दी मचाई हरियाली
रासन में सादी कराई हरियाली
बीबी मात्थे तुम्हारे अीका
बिन्दी पै रतन जड़ाई हरियाली
रासन में सादी कराई...
बीबी गल तुम्हारे नकलिस
लोकिट पै रतन जड़ाई हरियाली
रासन में सादी कराई...
बीबी हाथ तुम्हारे कंगणा
मंहदे पै रतन जड़ाई हरियाली
रासन में सादी कराई...
बीबी पैर तुम्हारे जूता
चलगत पै रतन जड़ाई हरियाली
रासन में सादी कराई...