भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कविता-पहेलियाँ / निकोलस गियेन

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मुखपृष्ठ  » रचनाकारों की सूची  » रचनाकार: निकोलस गियेन  » कविता-पहेलियाँ

दाँतों में, सुबह,
और रात चमड़ी में।
कौन है, कौन नहीं?

नीग्रो

उसके एक सुन्दर स्त्री न होने पर भी,
वही करोगे जो उसका हुक्म होगा।
कौन है, कौन नहीं?

भूख

ग़ुलामों का ग़ुलाम,
और मालिक के संग ज़ुल्मी।
कौन है, कौन नहीं?

गन्ना

छुपा लो उसे एक हाथ से
ताकि दूसरा कभी जाने भी नहीं।
कौन है, कौन नहीं?

भीख

एक इंसान जो रो रहा है
एक हँसी के साथ जो उसने सीखी थी।
कौन है, कौन नहीं?

'मैं'


मूल स्पानी भाषा से अनुवाद : श्रीकान्त