भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कविता कोश सूत्र छंद कार्यशाला सह कविता पाठ (13 फ़रवरी 2018)

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

13 फरवरी 2018 को कविता कोश सूत्र कार्यक्रम के अंतर्गत छंद कार्यशाला सह कविता पाठ का आयोजन बेंगलुरू में किया गया। कार्यक्रम का प्रारंभ कविता कोश के स्वयंसेवा गान से हुआ। कविता कोश के द्वारा डा. कविता पनिया और गरिमा सक्सेना को कविता कोश मित्र नियुक्त किया गया।

इसके बाद लवली गोस्वामी जी, गौरव गोठी जी, निधि बघेल जी, शिल्पा जी, गरिमा सक्सेना जी, उषा रानी जी, डा. कविता पनिया जी, राहुल शिवाय ने सस्वर कविता, गीत और ग़ज़लों का पाठ किया।

कार्यक्रम के अंत में कविता कोश मित्रो द्वारा हर दो महीने में बेंगलुरु में कार्यक्रम करने की बात रखी गई; जिस पर सबने अपनी स्वीकृति प्रदान की।

संचालन राहुल शिवाय तथा धन्यवाद ज्ञापन लवली गोस्वामी जी के द्वारा किया गया।

Kk-chhand-kaaryashala-bangalore.jpeg