भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कविता चली गाँव की ओर: प्रांतीय काव्योत्सव, भागलपुर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

सर्वकल्याणी छठ पूजा समिति करहरिया सुल्तानगंज, भागलपुर एवं कविता कोश की ओर से "कविता चली गाँव की ओर" शीर्षक के तहत दिनांक 28 अक्तूबर 2017 को उच्च विद्यालय, करहरिया के मैदान में प्रांतीय काव्योत्सव के अवसर पर पधारे 9 जिलों के साहित्यकारों का समागम हुआ। कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि माननीय विधायक श्री सुबोध राय ने किया और अध्यक्षता मुखिया श्रीमती चंदा कुमारी। कार्यक्रम का संचालन आयोजन अध्यक्ष श्री संजीव कुमार सिंह एवं सुधीर कुमार प्रोग्रामर ने किया।

Kavita-chali-gaanv-ki-or-1.jpg

कार्यक्रम के आरम्भ में मंचस्थ कवियों एवं शहीद निलेश के पिता श्री तरुण कुमार सिंह सहित मुख्य अतिथि, विशिष्ट अतिथि डॉ विजय कुमार सिंह, डॉ ब्रह्मदेव नारायण सत्यम, पत्रकारों, छात्रों आदि का फूल माला, अंगवस्त्र से स्वागत किया गया। इसके बाद शहीद निलेश स्मृति सम्मान, देवी प्रसाद महतो स्मृति सम्मान, गंगा प्रसाद स्मृति सम्मान, डॉ सदानंद स्मृति सम्मान, एवं सुरेन्द्र प्रसाद मंडल स्मृति सम्मान प्रदान किए गए।

Kavita-chali-gaanv-ki-or-3.jpg

सम्मान पाने वाले कवियों में राष्ट्रीय लोक कवि भगवान प्रलय, रामावतार राही, हीरा प्रसाद हरेन्द्र, विजेता मुद्ग्ल्पुरी, कैलाश झा किंकर, कविता कोश के युवा संपादक राहुल शिवाय, साथी सुरेश सूर्य, सुधीर कुमार प्रोग्रामर, विकास सिंह गुल्टी, प्रसून ठाकुर, राजकिशोर केसरी, विकास, भवानंद सिंह प्रशांत, मनीष कुमार गूंज, रामधारी सिंह काव्यतीर्थ, ब्रह्मदेव सिंह लोकेश, सत्रु आर्य, अरविन्द कुमार मुन्न बगैरह। जबकि पत्रकारों में हिंदुस्तान के संजय कुमार झा, प्रभात खबर के शुभंकर झा, दैनिक भास्कर के रविन्द्र कुमार, शेताम्बर झा, डब्लू कुमार आदि का भव्य सम्मान किया गया।

Kavita-chali-gaanv-ki-or-2.jpg

कवियोत्सव के आरम्भ में कवियों ने शहीद निलेश को समर्पित कई मार्मिक रचनाओं से श्रोताओं को बांधे रखा। देर रात काव्योत्सव का समापन श्री सजीव कुमार सिंह के धन्यवाद उद्गार से हुआ। आगत कवियों एवं अतिथियों की शानदार विदाई की गई।

Kavita-chali-gaanv-ki-or-4.jpg