भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कश्मीर / मेला राम 'वफ़ा'

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

ये है रंगी बहारों की दुनिया
रूह परवर नज़ारों की दुनिया

वादियों, कोहसारों की दुनिया
नद्दियों जूएबारों की दुनिया

अंबरीं शाखसारों की दुनिया
गुल ज़मीं रहगुज़ारों की दुनिया

दिल कुशा मर्गज़ारों की दुनिया
जां फ़ज़ा आबशारों की दुनिया

गुल रुखों, गुल-अज़ारों की दुनिया
महवशों, माहपारों की दुनिया

हुस्न के ताजदारों की दुनिया।