भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कहमाँ से बेटा आएल रे टोनमा / मगही

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मगही लोकगीत   ♦   रचनाकार: अज्ञात

कहमाँ से बेटा आएल रे टोनमा।
केकर[1] गली आइ भरमल[2] रे टोनमा॥1॥
पटना सहरवा से अयलूँ रे टोनमा।
ससुरा गलियवा[3] में भरमलूँ रे टोनमा।
बाबा, हम ही एकलउता[4] बेटा रे टोनमा॥3॥

शब्दार्थ
  1. किसकी
  2. भटक गया
  3. गलियों में
  4. एकलौता, एकमात्र