भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कहवाँ के सेनुरिया सेनुर बेचे आयल हे / मगही

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मगही लोकगीत   ♦   रचनाकार: अज्ञात

कहवाँ[1] के सेनुरिया[2] सेनुर[3] बेचे आयल हे।
कहवाँ के बर कामिल[4] सेनुर बेसाहल[5] हे॥1॥
कवन पुर के सेनुरिया सेनुर बेचे आयल हे।
कवन पुर के बर कामिल, सेनुर बेसाहल हे॥2॥

शब्दार्थ
  1. किस स्थान, कहाँ
  2. सिन्दूर बेचने वाला
  3. सिन्दूर
  4. काबिल, होशियार
  5. खरीदा