भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

क़तरे में दरिया होता है / शीन काफ़ निज़ाम

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

क़तरे में दरिया होता है
दरिया भी प्यासा होता है

मैं होता हूँ वो होता है
बाक़ी सब धोखा होता है

जब आंसू सूखे तो जाना
दरिया में सहरा होता है

सोना क्या मिट्टी है लेकिन
मिट्टी में सोना होता है

काई सी है दीवारों पर
देखें आगे क्या होता है