भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

काले सलीब / ऊलाव हाउगे

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मुखपृष्ठ  » रचनाकारों की सूची  » रचनाकार: ऊलाव हाउगे  » काले सलीब

श्वेत बर्फ़ में
काले सलीब
बारिश में झुके हुए, टेढ़े।

कँटीले बंजर में से होते हुए
मृतक यहाँ आए।
उनके कंधों पर सलीब थे
जो उन्होंने यहाँ रख दिए
और वे हरेक बर्फ़ीले
तृनगुच्छ के नीचे
आराम करने लगे।


अंग्रेज़ी से अनुवाद : रुस्तम सिंह