भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

काल अर आज रै बिच्चै / सांवर दइया

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

काल अर आज रै बिच्चै
Kalarajraibichchai.jpg
रचनाकार सांवर दइया
प्रकाशक धरती प्रकाशन, बीकानेर
वर्ष जुलाई, 1977
भाषा राजस्थानी
विषय कविता
विधा मुक्त छंद
पृष्ठ 80
ISBN
विविध काव्य, द्वितीय संस्करण 1982
इस पन्ने पर दी गई रचनाओं को विश्व भर के स्वयंसेवी योगदानकर्ताओं ने भिन्न-भिन्न स्रोतों का प्रयोग कर कविता कोश में संकलित किया है। ऊपर दी गई प्रकाशक संबंधी जानकारी छपी हुई पुस्तक खरीदने हेतु आपकी सहायता के लिये दी गई है।