भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कृष्ण कृष्ण कऽ द्रोपदी करथि रोदना / मैथिली लोकगीत

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मैथिली लोकगीत   ♦   रचनाकार: अज्ञात

कृष्ण कृष्ण कऽ द्रोपदी करथि रोदना
कृष्ण अहाँ बिना लाज बांचत कोना
सभा बिच द्रोपदी करथि रोदना
कृष्ण कनिएक चीर बढ़ाउ अहाँ
दुष्ट कौरव के क्यो नहि देलक मना
पांचो पाँडव सहित चलू वन रहना
कर्म विधान लिखथि विधना
पांचो पाँडव सँ शकुनि केलथि वंचना