भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कृष्ण / परिचय

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अष्टछाप के कवियों में सूरदास एवं नंददास के पश्चात् कृष्णदास की रचना उत्तम मानी जाती है। इनका जन्म गुजरात में राजनगर (अहमदाबाद) के तिलोतरा गाँव में एक कुणबी (पटेल) परिवार में हुआ। इनकी बुध्दिमत्ता एवं कार्यकुशलता से प्रभावित होकर वल्लभाचार्य ने इन्हें दीक्षा दी तथा मंदिर का अधिकारी बनाया। राग कल्पद्रुम तथा राग रत्नाकर में इनकी रचनाएँ संग्रहित हैं। इनके लगभग 250 पद प्राप्त हैं। अनकी कविता अत्यंत सरस और भावभीनी है।