भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

गणतन्त्र की शक्ति / चेन्जेराई होव / राजेश चन्द्र

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

गणतन्त्र की शक्ति
बख़्तरबन्द कारों से नहीं मापी जाती
न ही बन्दूकों, विषों, या ग़ायब कर दिए जाने से ।

गणतन्त्र की शक्ति मापी जाती है
भिखारियों की भिक्षाओं में,
उन शस्त्रास्त्रों में
जो इस्तेमाल किए जाते हैं ग़रीबों पर।
अमीरों की फ़िज़ूलख़र्ची में।

गणतन्त्र की शक्ति
मापी जाती है चींटियों में
हाथियों में नहीं पार्क के।

अँग्रेज़ी से अनुवाद : राजेश चन्द्र

अब यही कविता मूल अँग्रेज़ी में पढ़िए

                  Chenjerai Hove
  THE STRENGTH OF THE REPUBLIC

he strength of the Republic
is not measured in armoured cars
or guns, or poisons, or disappearances.

The strength of the Republic is measured
in beggars alms, arms that drains for the poor.
The waste of the rich.

The strength of the Republic
is measured in ants
not elephants in the park