भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

ग़ुलाम देश से आई एक गोपनीय रपट / निज़ार क़ब्बानी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

साथियो !
क्या है कविता ग़र नहीं करती यह एलान बगावत का ?
ग़र उखाड़ नहीं फेंकती यह निरंकुश सत्ता को ?
क्या है कविता ग़र यह नहीं भड़काती ज्वालामुखियों को वहाँ
जहाँ हमें उनकी ज़रूरत है ?
और क्या मतलब है कविता का आख़िर
ग़र यह नोच नहीं लेती दुनिया के ताक़तवर बादशाहों के सर से ताज ?

अँग्रेज़ी से अनुवाद : मनोज पटेल