भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

चन्द्रमा और पंख / हुम्बरतो अकाबल / यादवेन्द्र

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

चन्द्रमा ने
थमा दिया
मेरे हाथ एक पँख

लगा मेरे हाथ
आ गया
गाने जैसा कुछ

चन्द्रमा हँसा
फिर बोला —

पहले सीखो
कैसे गाते हैं गाना।

अँग्रेज़ी से अनुवाद : यादवेन्द्र