भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

चमन में सुबह का मंज़र बड़ा दिलचस्प होता है / मुनव्वर राना

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

चमन[1]में सुबह का मंज़र[2]बड़ा दिलचस्प[3]होता है
कली जब सो के उठती है तो तितली मुस्कुराती है

हमें ऐ ज़िंदगी तुझपर हमेशा रश्क़[4]आता है
मसायल[5]में घिरी रहती है फिर भी मुस्कुराती है

बड़ा गहरा तआल्लुक़[6]है सियासत[7]का तबाही[8] से
कोई भी शहर जलता है तो दिल्ली मुस्कुराती है

शब्दार्थ
  1. उद्यान
  2. दृश्य
  3. रुचिकर
  4. ईर्ष्या
  5. समस्याएँ
  6. संबंध
  7. राजनीति
  8. बर्बादी