भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

चूहेमल और स्कूटर / बालकृष्ण गर्ग

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बड़ी शान से चूहेमल ने
एक खरीदा स्कूटर,
चुहिया को पीछे बैठकर
चले लगाने चक्कर।
लेकिन जब बिल्ली मौसी को
देखा बीच सड़क पर,
काँपा उनका हाथ ज़ोर से
हुई पेड़ से टक्कर।
[शावक मार्च 1975]