भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

छाप / कविता वाचक्नवी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जो दबे पाँवों

चले आए

उन्हीं के

चरणतल की छाप

छूटी है

हमारी क्यारियों में

हर कली पर ।