भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

डेल्टा / स्वाति मेलकानी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

एक नदी मेरे बाहर है
     और दूसरी मेरी भीतर।
     दोनों नदियों के बीच
     डेल्टा बन चुका यह शरीर
     कुछ नहीं करता
     सिवाय अपने होने भर के।