भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

तीन हाइकू / सुमन पोखरेल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

एक
फर्काइ देऊ
मैले दिएको भोट
चामल किन्न।

दुई
निर्जन वन
अनादीकालदेखी
सङ्गीतमय ।

तीन
उदास रूख
चरा बसे हाँगामा
उड्यो यो मन।