भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

दमन / लैंग्स्टन ह्यूज़

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मुखपृष्ठ  » रचनाकारों की सूची  » रचनाकार: लैंग्स्टन ह्यूज़  » संग्रह: आँखें दुनिया की तरफ़ देखती हैं
»  दमन

अब सपने उपलब्ध नहीं हैं
स्वप्नदर्शियों को
न ही गीत गायकों को

कहीं-कहीं अन्धेरी रात
और ठण्डे लोहे का ही
शासन है
पर सपनों की वापसी होगी
और गीतों की भी

तोड़ दो
इनके क़ैदख़ानों को


मूल अंग्रेज़ी से अनुवाद : राम कृष्ण पाण्डेय