भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

दिशा-निर्देश पट्ट / एरिष फ़्रीड / प्रतिभा उपाध्याय

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जो मुझे हताश करता है
वह यह –
कि इतना मुश्किल है यह देखना
कि रास्ता किधर जाता है
न्याय की ओर
या सुरक्षित भविष्य की ओर


लेकिन जो मुझे पुन: साहस देता है
वह यह –
कि इतना आसान है यह देखना
जहाँ अन्याय होता है
और अन्याय से नफ़रत करना


और यह भी –
कि यदि आसान नहीं है
अन्याय के ख़िलाफ़ लड़ना
तो खो देता है मनुष्य अपनी दिशा
लेकिन इतनी आसानी से भी नहीं

चूँकि इतना अधिक चमकता है अन्याय
और इतनी जोरदार गन्ध फैलाता है
कि कोई भी खोना नहीं चाहता
अन्याय की डगर

यदि न्याय और भविष्य का मार्ग है
अन्धकारमय और छिपा हुआ
तो पकडूँगा मैं अन्याय को,
जो दिखाई दे रहा है सड़क के बीच में

और यदि मैं शायद अभी तक यहाँ हूँ
अन्याय के साथ मेरी लड़ाई के बावज़ूद
तो मैं एक मिसाल बनूँगा
न्याय के इसी (अन्याय के) रास्ते से।

मूल जर्मन से अनुवाद : प्रतिभा उपाध्याय