भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

दुश्मन की पहचान / अहमेद फ़ौआद नेग़्म / राजेश चन्द्र

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हम जानते हैं
किसने अपमानित
किया है हमें

हमें यह भी मालूम है
कि हम कौन हैं।

हम इकट्ठा होते हैं
मज़दूरों, किसानों
और छात्रों के रूप में,

हमारा समय आ गया है
और हम बढ़ते ही जाएँगे
आगे की ओर
उस सड़क पर
जहाँ से वापसी सम्भव नहीं
मुक्ति का सूरज हमारे क़रीब है

हम
साफ़-साफ़
देख पा रहे हैं उसे ।

अँग्रेज़ी से अनुवाद : राजेश चन्द्र