भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

द्रुतगामी / रोज़ा आउसलेण्डर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

तेज़ी से पानी की तरह
बह जाता है समय I

तैरते हैं देश
कुछ नीचे चले जाते हैं
जहाज़ से पार करते हैं
एक संसार से दूसरा संसार I

युद्ध होता है
यहाँ साँस लेती है
थोड़ी देर के लिए
शान्ति I

बच्चे भूखे हैं
दो उन्हें
रोटी और प्यार,


एक तस्वीर
एक शब्द
संगीत
हम करते हैं चमत्कार I

तेज़ी से पानी की तरह
बह जाता है तुम्हारा जीवन II

मूल जर्मन भाषा से प्रतिभा उपाध्याय द्वारा अनूदित