भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

नाम पहुंचे उनके, जो खिलाफ़ हैं / सांवर दइया

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

नाम पहुंचे उनके, जो खिलाफ़ हैं।
याद रखिये, उनमें एक आप हैं।

आपके कहने से कौन मानेगा,
आपका चलन नेक और साफ़ है।

आप बेक़सूर साबित नहीं उनसे,
जिनमें दूसरों के दामन दाग़ है।

यह वारदात आपके नाम होगी,
जहां खडे हैं आप, वहां आग है।

छूटना है तो और को फंसाओ,
यहां का सदा से यही हिसाब है।