भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पंकज पराशर / परिचय

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जन्मः 03 अगस्त, 1976 को बिहार के सहरसा जिले के मोहनपुर गांव में।

प्रारंभिक से स्नातक तक की शिक्षा गांव और सहरसा में। पटना विश्वविद्यालय, पटना से एम.ए.(हिंदी) में प्रथम श्रेणी में सर्वोच्च स्थान प्राप्त। तत्पश्चात जे०एन०यू०, नई दिल्ली से एम०फिल० और यहीं से “रघुवीर सहाय के साहित्य में सत्तामूलक विमर्श का आलोचनात्मक अध्ययन” विषय पर वर्ष 2005 में पी-एच०डी०। जामिया मिल्लिया इस्लामिया, नई दिल्ली से टी०वी०पत्रकारिता में पी०जी० डिप्लोमा।

हिंदी की तमाम साहित्यिक पत्रिकाओं में कविताएँ और आलोचनात्मक लेख प्रकाशित। अधिकांश कविता-लेखन मातृभाषा मैथिली में। मैथिली में दो कविता संग्रह “समय केँ अकानैत” (2004) और “विलंबित कइक युग मे निबद्ध” (2009) प्रकाशित। “सलीम के शनिदेव” (टिप्पणी-संग्रह, 2005), के अलावा धर्मपाल एवं केएम मुकुंदन की एक किताब का “गोवध और अंग्रेज” (अनुवाद, 2003) नाम से वाणी प्रकाशन दिल्ली से प्रकाशित। मैथिली कविता संचयन” (अनुवाद, 2009) नेशनल बुक ट्रस्ट से प्रकाशित। इसके अतिरिक्त ब्रूस चैटविन, एबहार्ड फिशर, हकु शाह, लॉद लेवी स्त्रॉस और अमर्त्य सेन इत्यादि प्रख्यात बुद्धिजीवियों के शोध-निबंधों का हिंदी में अनुवाद।

पाब्लो नेरुदा, गुंटर ग्रास, राइनेर मारिया रिल्के, बेन ओकरी, सादी युसुफ, क्लॉद मैक्के, लैग्स्टन ह्यूज, रसूल हम्जातोव, पॉल एलुआर, नाजिम हिकमत, केन सारो वीवा इत्यादि कवियों की अनेक कविताओं का मैथिली में अनुवाद। “साफ्मा” आ “पाकिस्तान राइटर्स एंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन” के आमंत्रण पर मई, 2008 में पाकिस्तान-यात्रा। लाहौर, रावलपिंडी और इस्लामाबाद में हिंदी साहित्य के समकालीन परिदृश्य विषय पर व्याख्यान और काव्य-पाठ।

तीन वर्ष तक बसंत महिला महाविद्यालय, वाराणसी मे अध्यापन के बाद हिंदुस्तान टाइम्स समूह की मासिक पत्रिका कादम्बिनी में लगभग कुछ सालों तक मुख्य कॉपी संपादक। तत्पश्चात दैनिक भास्कर, भोपाल मे समाचार संपादक। संप्रतिः दैनिक जागरण, नोएडा में।

स्थायी पताः सी- 208, ऊपरी तल, पांडव नगर, दिल्ली- 110092

फोन: 06478-261221, 277107, +91-9968166226 (मो.)

email: pparasharjnu@gmail.com, pkjppster@gmail.com