भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पंडित हृदय नारायण झा जन्मदिवस समारोह - जुलाई 2018

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कविता कोश एवम् सुजान ह्रदय के संयुक्त तत्वावधान में राजकीयकृत उच्च माध्यमिक विद्यालय मोहिउद्दीननगर के प्रांगण में इसी विद्यालय के संस्थापक शिक्षक स्व0 पं0 ह्रदयनारायण झा की जयन्ती दो सत्रों में मनाई गई।

प्रथम सत्र सम्मान सह परिचर्चा की अध्यक्षता जनक किशोर कापर ने की। जबकि संचालन का कार्य साहित्यकार मृदुल ने किया। मुख्य अतिथि के रूप में कविता कोश के उप निदेशक शारदा सुमन, विशिष्ट अतिथि राजेश कुमार सिंह, मनोज सुनील और संत कुमार मंच की गरिमा बढ़ा रहे थे। सर्वप्रथम विधानपार्षद राणा गंगेश्वर सिंह ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन किया। ततपश्चात् सुजान हृदय के सचिव ईश्वर करूण के द्वारा अतिथियों, कवियों व पत्रकारों को अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया गया। सम्मान की कड़ी में ही मोहीउद्दीन नगर उच्च विद्यालय से मैट्रिक की परीक्षा में उच्चतम अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थी मुस्कान व हर्ष तथा इंटर की परीक्षा में सर्वोच्च अंक लाने वाली छात्रा मुस्कान को अंगवस्त्र, प्रशस्ति पत्र, कविता कोश का मेडल और नकद राशि पुरस्कार स्वरूप प्रदान की गयी। इस अवसर पर पर्यावरण के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले पर्यावरणसेवी सुजीत कुमार भगत और वशिष्ठ राय वशिष्ठ को कविता कोश का मेडल, अंगवस्त्र और प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया। इसी क्रम में प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी इंद्रकांत सिंह, अधिवक्ता जयनाथ ठाकुर, कविता प्रेमी राजेश कुमार सिंह, विद्याभारती, वैशाली के निदेशक दीपक कुमार को कविता कोश का कलैंडर तथा कुमारी अर्चना को कविता कोश का मेडल शारदा सुमन के कर-कमलों से प्रदान किया गया। कविता कोश के सह संपादक राहुल शिवाय द्वारा गीतकार ईश्वर करुण, इंदु झा, मणिपुष्कर व चन्नी चैताली को अंग वस्त्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। ततपश्चात् अतिथियों के द्वारा पंडित हृदय नारायण झा के व्यक्तित्वों पर चर्चा की गयी।

मौके पर रामंचद्र सिंह, कमाल हसन, बैजू झा के अलावे विद्यालय के हजारों छात्र और छात्राएं उपस्थिति कार्यक्रम की भव्यता प्रदान कर रही थी । समारोह के द्वितीय सत्र में राज्यस्तरीय कविसम्मेलन किया गया जिसकी अध्यक्षता चांद मुसाफिर ने की। संचालन राहुल शिवाय ने किया। मुख्य अतिथि कैलाश झा किंकर, विशिष्ट अतिथि सिने स्टार अमिय कश्यप की मौजूदगी में कवियों ने अपनी कविताओं से श्रोताओं को खूब अह्लादित किया। काव्य – पाठ करने वाले कवियों में - बैद्यनाथ पंडित प्रभाकर, अर्जुन प्रभात, राहुल शिवाय, द्वारिका राय, ईश्वर करूण, मृदुल, ज्वाला सांध्यपुष्प, शरदेंदु शरद, चांद मुसाफिर, अब्दुल मोबीन, लक्ष्मीदास आचार्य, वशिष्ठ राय वशिष्ठ, सीताराम शेरपुरी, राजेश कुमार सिंह शामिल थे।