भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पत्तियाँ / राजश्री

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

पेडों से झरती पत्तियाँ
पत्तियों से जुडी पत्तियाँ
टूट टूट कर गिरती पत्तियाँ
पीली भूरी बैगनी पत्तियाँ
पानी में भीगती पत्तियाँ
ठंड में ठिठुरती पत्तियाँ
धूप में गुनगुनाती पत्तियाँ
गर्मी में झुलसती पत्तियॉं
चांदनी में कुनमुनाती पत्तियाँ
हेमंती हवा में उड़ती पत्तियाँ
 
पेड़ो से झरती पत्तियाँ
केसरी सिंदूरी महावरी पत्तियाँ
पत्तियों संग धूम मचाती पत्तियाँ
पत्तियों से मिल गाती पत्तियाँ
पत्तियों से छुप भागती पत्तियाँ
पत्तियाँ के सपने देखती पत्तियाँ
पत्तियों की हंसी उडाती पत्तियाँ
पत्तियों से मिलने दौडती पत्तियाँ
पत्तियों से बिछ्ड़ रोती पत्तियाँ
फिर आने का वचन देती पत्तियाँ