भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पत्थर / शम्भु बादल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

वह पत्थर पूजता है
मोम नहीं

इसलिए कि अन्दर का मोम
पिघले नहीं
पत्थर बने

और वह
शिकार खेलता रहे
इसी वन में