भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

परिवर्तन / रतन सिंह ढिल्लों

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कोई ज़माना था
जब बच्चे
गाँव में आई
किसी जीप, कार या बस के
पीछे भागते थे
लटकते थे, झूटे लेते थे
 
आज का ज़माना है
कि जीप की आवाज़ सुनते ही
बच्चे दरवाज़े के पीछे छिप जाते है
माँ की आँचल में छिप जाते हैं
चूहों की तरह दुबक जाते हैं

और
जीपों के चले जाने के बाद
बस सिसकियाँ भरते हैं ।
 
मूल पंजाबी से अनुवाद : अर्जुन निराला