भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पीअर आँचर विषहरि / मैथिली लोकगीत

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मैथिली लोकगीत   ♦   रचनाकार: अज्ञात

पीअर आँचर विषहरि, थकरल केश
राम, सेवक दुख सुनय विषहरि लेल परवेश
किये लय पूजू मइया, किये चढ़ाएब
राम, किये लए करब मइया तोहरो शृंगार
दूध लऽ पूजब मइया, लाबा चढ़ाएब
राम, अड़हुल फूल लय करब शृंगार
फल मध्य गुअबा, नैवेद्य मध्य पान
राम, देवी मध्य विषहरि, दोसर ने आन