भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पीटर पाउलसेन

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

पीटर पाउलसेन
Peter Poulsen.jpg
जन्म 29 जुलाई 1940
निधन
उपनाम Peter Poulsen
जन्म स्थान फ़्रेडरिक्सबर्ग, डेनमार्क
कुछ प्रमुख कृतियाँ
अभी तक पच्चीस कविता-संग्रह प्रकाशित। पच्चीसवें संग्रह का नाम है -- ढोल गा रहे हैं।
विविध
प्रसिद्ध फ़िल्म-निर्देशक और कवि। पाउलसेन ने 1966 में लिखना शुरू किया था। तभी उनका पहला कविता-संग्रह आया था। पाउलसेन की कविता का स्वर आम तौर पर उग्र न होकर शान्त होता है। वे शान्त भाषा में शान्त कविताएँ लिखते हैं। वे अपनी कविताओं को प्रतीकों और बिम्बों से सजाने की कोशिश नहीं करते। उनकी अन्तर्मुखी कविताएँ मन के भीतर की चीख़ को अभिव्यक्त नहीं करतीं। वे मन को, अन्तरात्मा को बड़े सहज रूप में अभिव्यक्त करते हैं। वे कविता-पाठ भी बेहद अनोखे रूप में करते हैं। कविता पढ़ते हुए उनके लिए यह ज़रूरी है कि पृष्ठभूमि में जाज़ (अँग्रेज़ी में जैज) संगीत बज रहा हो। उनका कविता-पाठ जैसे जाज़ संगीत के साथ एकमेक हो जाता है।
जीवन परिचय
पीटर पाउलसेन / परिचय
कविता कोश पता
www.kavitakosh.org/



कुछ प्रतिनिधि रचनाएँ