भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पुराने युद्धस्थल पर / गून ल्यू

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मुखपृष्ठ  » रचनाकारों की सूची  » रचनाकार: गून ल्यू  » पुराने युद्धस्थल पर

उस बन रही इमारत से दूर
पहुँचे जब कुछ मज़दूर
वहाँ मिली उन्हें कुछ खाइयाँ
उस पुराने युद्ध की परछाइयाँ

ओ माँ चीन! वहाँ
गहरी झुर्रियाँ थी तेरे माथे पर
लड़ाई के गड्ढे थे पुराने
इमारत के ऊबड़-खाबड़ अहाते पर

जिसे कभी तेरे बेटों ने
था अपने ख़ून से सींचा
अब खिलेंगे रंग-बिरंगे फूल
उस जख़्मी धरती पर
अब बनाया जाएगा वहाँ
फूलों का बगीचा


रूसी भाषा से रूपांतरण : जनविजय