भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पेड़ / बालकृष्ण गर्ग

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

(1)
है कुदरत का वरदान पेड़,
हरियाली की पहचान पेड़,
धरती माँ की मुस्कान पेड़,
जीवों को जीवन-दान पेड़।
(2)

काट न इनको, इन्हें न छेड़,
मत कर हरियाली की रेड!
वातावरण बनाते पेड़,
पर्यावरण बचाते पेड़!
[रचना : 15 मई 1996]