भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

प्रताप सहगल / परिचय

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

प्रताप सहगल, कवि, नाटककार, कथाकार, आलोचक

जन्म: 10 मई 1945, झंग पशिचम पजाब (अब पाकिस्तान में)

शिक्षा: एम ए प्रथम श्रेणी

कार्यक्षेत्र: एसोसिअट प्रोफेसर (सेवानिवृत्त), हिंदी विभाग, ज़ाकिर हुसैन स्नातकोत्तर सांध्य महाविद्यालय; दिल्ली विश्वविद्यालय, जवाहरलाल नेहरु मार्ग, नई दिल्ली-2

प्रताप सहगल एक जाने-माने कवि, नाटककार, कथाकार और आलोचक के रूप में पहचाने जाते हैं। 10 मई, 1945 को पश्चिमी पंजाब के झंग प्रदेश में (अब पाकिस्तान में) इनका जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा रोहतक और मिडिल तथा उच्च शिक्षा दिल्ली में हुई। 1970 में दिल्ली विश्वविद्यालय से प्रथम श्रेणी प्रथम में एम ए किया और इसी साल आपकी नियुक्ति दिल्ली कालिज, जो अब ज़ाकिर हुसैन कालिज के नाम से जाना जाता है, में एक प्रवक्ता के रूप में हुई। यहाँ आपने 40 वर्षों तक स्नातक एवं स्नातकोत्तर कक्षाओं के अध्यापन के साथ-साथ शोध-कार्य निर्देशित किया। 2010 में आप ज़ाकिर हुसैन स्नातकोत्तर सांध्य महाविद्यालय से एसोसिएट प्रोफ़ेसर के पद से सेवा-निवृत्त हुए। इसी सेवा में रहकर उन्होंने अपना सृजनात्मक कार्य किया।

सम्मान एवं पुरस्कार

  • मैथिलीशरण गुप्त पुरस्कार,1970
  • रंग बसंती पर साहित्य कला परिषद् द्वारा सर्वश्रेष्ठ नाट्यालेख पुरस्कार 1981
  • अपनी अपनी भूमिका - शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार द्वारा पुरस्कृत 1983
  • आदिम आग, हिंदी अकादमी दिल्ली द्वारा पुरस्कृत 1989
  • अनहद नाद, हिंदी अकादमी दिल्ली द्वारा पुरस्कृत 2001
  • सौहार्द सम्मान, उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान, लखनऊ 2001
  • राजभाषा सम्मान भारत सरकार 2001
  • साहित्यकार सम्मान हिंदी अकादमी दिल्ली द्वारा पुरस्कृत 2005
  • रोटरी क्लब राजभाषा सम्मान - 2010

कविता संग्रह

  • सवाल अब भी मौजूद है : 1983, देवदार प्रकाशन, दिल्ली
  • आदिम आग : 1988, पराग प्रकाशन, दिल्ली
  • अँधेरे में देखना : 1994, अभिरुचि प्रकाशन, दिल्ली
  • इस तरह से : 1997 (छह लंबी कविताएँ), आस्था प्रकाशन, नई दिल्ली
  • नचिकेता’स ओडिसी (अंग्रेज़ी में) : 1989, समकालीन प्रकाशन, नई दिल्ली
  • छवियाँ और छवियाँ : 2005, किताबघर प्रकाशन, नई दिल्ली
  • मुक्ति-द्वार के सामने : 2012, किताबघर प्रकाशन, नई दिल्ली

संपादित कविता संग्रह

  • एक दूसरे से अलग (लंबी कविताएँ) : 1981, पराग प्रकाशन दिल्ली
  • अलग अलग होने के बावजूद (लंबी कविताएँ) : 1986 पराग प्रकाशन दिल्ली
  • नवें दशक की कविता यात्रा : 1988 सुहासदीप प्रकाशन, दिल्ली
  • यूनिवर्सिटी टुडे के सहयोगी संपादक (बीस वर्ष)
  • ‘सुहासदीप’ पत्रिका के दो कविता अंक

सहयोगी कविता संग्रह

  • दिविक : 1970, लोकभारती प्रकाशन, इलाहाबाद
  • मुट्ठियों में बंद आकार : 1971, ॠषभचरण जैन एवं सन्तति, नई दिल्ली
  • शहर चुप नही है : 1986, संप्रति प्रकाशन, उज्जैन
  • कैक्टस और गुलाब : 1982, पंकज प्रकाशन, नई दिल्ली
  • आज की हिन्दी कविता : 1987 प्रभात प्रकाशन, दिल्ली
  • समकालीन कविता- प्रामाणिक दस्तावेज़ : 1981 पंजाब हिन्दी परिषद मजीठा, अमृतसर
  • एक दूसरे से अलग : 1981, पराग प्रकाशन, दिल्ली
  • अलग अलग होने के बावजूद : 1986, पराग प्रकाशन, दिल्ली
  • इंडियन पोएट्री टुडे : 1985, इंडियन कांउसिल फ़ार कलचरल रिलेशंस, दिल्ली
  • नवें दशक की कविता यात्रा : 1988, सुहासदीप प्रकाशन, दिल्ली
  • भारतीय कविताएँ : 1986, 1990 भारतीय ज्ञानपीठ, नई दिल्ली
  • उत्तरा : 1991, साहित्य अकादमी, नई दिल्ली
  • तीसरी दुनिया की कविता : बहरहाल, चण्डीगढ़
  • हिन्दी पोएट्री टुडे : वाल्यूम – 2, 1984, समकालीन प्रकाशन, नई दिल्ली
  • मध्यांतर दो : 1993 अस्मिता प्रकाशन, हैदराबाद
  • मध्यांतर तीन : 1994, अस्मिता प्रकाशन, हैदराबाद
  • पुनर्संभवा : 1990, पराग प्रकाशन, दिल्ली
  • संकल्प : 1990, हिन्दी अकादमी, दिल्ली
  • आखिरी दशक की लंबी कविताएँ : 1994, नवलेखन प्रकाशन, हजारीबाग
  • बीसवीं शताब्दी की लंबी कविताएँ :1999, अभिरुचि प्रकाशन, दिल्ली
  • निरंतर संवाद : 2000, अभिव्यंजना, नई दिल्ली
  • फ़ाइव हिन्दी पोएट्स : 2004, संपर्क, नई दिल्ली
  • पृथ्वी के पक्ष में : 2006, इन्द्रप्रस्थ प्रकाशन, दिल्ली।

नाटक

  • अन्वेषक : 1992 किताबघर प्रकाशन, नई दिल्ली, पुर्नप्रकाशन – 1997, 2003, 2005, 2006, 2007
  • चार रूपांत : 1992, प्रतिमान प्रकाशन, नई दिल्ली
  • रंग बसंती : 1984, पराग प्रकाशन, दिल्ली। पुर्नप्रकाशन 2003 किताबघर प्रकाशन, नई दिल्ली
  • मौत क्यों रात भर नहीं आती : 1988, जयश्री प्रकाशन, दिल्ली। पुर्नप्रकाशन 2003, किताबघर प्रकाशन, नई दिल्ली
  • नौ लघु नाटक : हिमाचल पुस्तक भंडार, दिल्ली। पुर्नप्रकाशन 1997, 2000, 2001, 2002, 2004, 2006, 2007, 2009
  • नहीं कोई अंत : 1998 किताबघर प्रकाशन, नई दिल्ली
  • अपनी अपनी भूमिका (रेडियो नाटक): 1998, प्रतिमान प्रकाशन, दिल्ली
  • रास्ता इधर भी है (रेडियो धारावाहिक): 2002, नवराज प्रकाशन, दिल्ली
  • अँधेरे में (पीटर शेफ़र के नाटक ब्लैक कामेडी का रूपांतर): 1987, अभिनव प्रकाशन नई दिल्ली। दूसरा संस्करण 1994, देवदार प्रकाशन, दिल्ली, तीसरा संस्करण किताबघर प्रकाशन, नई दिल्ली
  • किस्सा तीन गुलाबों का : (बल्गेरियन लेखक वालेरी पित्रोव के नाटक “व्हैन दि रोज़ेज़ आर डांसिंग” का अनुवाद) : 1991, पराग प्रकाशन, दिल्ली
  • पाँच रंग नाटक : 2002, 2008, किताबघर प्रकाशन, नई दिल्ली
  • कोई और रास्ता तथा अन्य लघु नाटक : 2008, परमेश्वरी प्रकाशन, दिल्ली। पुर्नमुद्रण 2009, 2011
  • मेरे श्रेष्ठ लघु नाटक : 2013 नेशनल बुक ट्रस्ट इंडिया, नई दिल्ली

सहयोगी नाटक संग्रह

  • सात छोटे नाटक : 1983, सन्मार्ग प्रकाशन, नई दिल्ली
  • समकालीन लघु नाटक : 1987, प्रभात प्रकाशन, नई दिल्ली
  • युवामानस के एकांकी : 1989, प्रभात प्रकाशन, नई दिल्ली
  • अंधविश्वास विरोध के एकांकी : 1989, प्रभात प्रकाशन, नई दिल्ली

बाल साहित्य

  • छू मंतर (नाटक संग्रह) : 2004, किताबघर प्रकाशन, नई दिल्ली। पुर्नमुद्रण -2006, 2009, 2011
  • दस बाल नाटक :( रवीन्द्रनाथ ठाकुर की बाल कहानियों से प्रेरित), किताबघर प्रकाशन, 2011
  • दो बाल नाटक : 2012, नेशनल बुक ट्रस्ट इंडिया, नई दिल्ली

कथा साहित्य

  • अनहद नाद (उपन्यास) : 1999, किताबघर प्रकाशन, नई दिल्ली
  • प्रियकांत (उपन्यास) : 2010, किताबघर प्रकाशन, नई दिल्ली
  • मछली मछली कितना पानी : 2012, वाणी प्रकाशन, नई दिल्ली
  • अब तक (कहानी संग्रह) : 1978, विजयंत प्रकाशन, नई दिल्ली

विविध

  • अंशत: (चुनिंदा रचनाओं का संग्रह : 2000, नवराज प्रकाशन, दिल्ली रंग चिंतन : 1988, नवराज प्रकाशन, दिल्ली
  • समय के निशान : 2003, ग्रंथलोक, नई दिल्ली
  • समय के सवाल : 2005, वाणी प्रकाशन, नई दिल्ली

सहयोगी आलोचना ग्रंथ

  • विष्णु प्रभाकर : व्यक्ति और साहित्य : 1983, अभिव्यंजना प्रकाशन, नई दिल्ली
  • समकालीन हिन्दी नाटक और रंगमंच : 1981, भारती प्रकाशन, दिल्ली
  • समकालीन हिन्दी कविता संवाद : 1983, सन्मार्ग प्रकाशन, दिल्ली
  • संघर्ष परिवर्तन और साहित्य : 1982, कृष्ण ब्रदर्स, अजमेर
  • कविता में लिखा इतिहास : 1985, जयश्री प्रकाशन, दिल्ली
  • समाकालीन साहित्य चिंतन : 1987, प्रभात प्रकाशन, नई दिल्ली
  • रचनाकार रामदरश मिश्र : 1990, राधा पब्लिकेशंस, नई दिल्ली
  • कथाकार महीप सिंह : 1982, अभिव्यंजना प्रकाशन, नई दिल्ली
  • वार्षिकी : 1979, केन्द्रीय हिंदी निदेशालय, नई दिल्ली
  • वार्षिकी : 1987, केन्द्रीय हिंदी निदेशालय, नई दिल्ली
  • असहमति का लेखक रमेश बक्षी : 1993, अनुराग प्रकाशन, नई दिल्ली
  • करक कलेजे मांहि : 2005

रेडियो पर प्रसारित धारावाहिक कार्यक्रम

  • कच्ची छत का मकान
  • बूड़ा वंश
  • रास्ता इधर है
  • रास्ता इधर भी है
  • वार्ड नंबर 16
  • बात ज़रा सी
  • अथ कथा रघुवंश
  • छू मंतर
  • गल्प मंजूषा – रवीन्द्रनाथ ठाकुर की तेरह कहानियों का रूपांतर
  • रवीन्द्रनाथ ठाकुर की तेरह बाल कहानियों का रूपांतर
  • रवीन्द्रनाथ ठाकुर के उपन्यास ‘गोरा’ का तेरह कड़ियों में रूपांतर
  • श्रीकृष्ण मिश्र के संस्कृत क्लासिक ‘श्री प्रबोध चन्द्रोदय’ का छब्बीस कड़ियों में रूपांतर
  • आचार्य चतुरसेन शास्त्री के उपन्यास ‘गोली’ का तेरह कड़ियों में रूपांतर
  • बंकिम के उपन्यास ‘आनन्दमठ’ का तेरह कड़ियों में रूपांतर
  • ‘शब्दों की यात्रा’ के अन्तर्गत प्रताप सहगल के तेरह नाटक एवं कहानियों का रूपांतर
  • प्रताप सहगल एवं उनकी किताबों पर केन्द्रित कई चर्चा कार्यक्रम
  • कई चर्चाओं, परिचर्चाओं एवं काव्य पाठ आदि में प्रमुख भागीदारी

टी वी पर

  • खंडहर पर बैठा आदमी (नाटक)
  • दिल्ली दूरदर्शन के पत्रिका कार्यक्रम में कृतित्त्व व व्यक्तित्त्व पर केन्द्रित विशिष्ट अंक एवं कई बार दूसरे कार्यक्रमों में शिरकत
  • अनेक चर्चाएँ एवं साक्षात्कार प्रसारित

अनुवाद

  • अनेक बल्गारियाई, अफ़्रीकी एवं स्पानी कविताओं के अनुवाद विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित
  • बल्गारियाई लेखक वालेरी पित्रोव के नाटक ‘किस्सा तीन गुलाबों का’ के नाम से अनुवाद
  • प्रताप सहगल के अनेक कविताओं, नाटकों एवं आलेखों का अंग्रेज़ी, बल्गारियाई, स्पेनिश, पंजाबी, उर्दू, बंगला, गुजराती, नेपाली, बर्मी, पश्तो तथा अन्य कई भाषाओं में अनुवाद प्रकाशित

सम्मान एवं पुरस्कार

  • मैथिलीशरण गुप्त पुरस्कार, 1970
  • ‘रंग बसंती’ पर साहित्य कला परिषद, (दिल्ली सरकार) द्वारा सर्वश्रेष्ठ नाट्यालेख पुरस्कार, 1981
  • अपनी अपनी भूमिका (रेडियो नाटक) – शिक्षा मंत्रालय (भारत सरकार) द्वारा पुरस्कृत, 1983
  • आदिम आग (कविता) – कृति पुरस्कार, हिन्दी अकादमी, दिल्ली, 1988
  • अनहद नाद (उपन्यास) – कृति पुरस्कार, हिन्दी अकादमी, दिल्ली, 2001
  • सौहार्द सम्मान- उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान, लखनऊ, 2001
  • राजभाषा सम्मान, भारत सरकार, 2001
  • साहित्यकार सम्मान –हिन्दी अकादमी, दिल्ली, 2005
  • राजभाषा सेवी सम्मान, रोटरी क्लब अप टाऊन, नई दिल्ली, 2011

पाठ्यक्रम में

  • अन्वेषक – कालीकट विश्वविद्यालय, गुरुकुल कांगड़ा विश्वविद्यालय एवं तिरुवनंतपुरम विश्वविद्यालय के बी ए स्तर के पाठ्यक्रम में
  • रंगचिंतन – दिल्ली विश्वविद्यालय के एम ए के लिए अनुमोदित पुस्तक

प्रताप सहगल पर हुआ शोध कार्य

  • प्रताप सहगल के नाटक : संवेदना और शिल्प, (एम फ़िल)-1992, अलका बंसल, पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़
  • अनहद नाद में चित्रित युग-बोध, (एम फ़िल) -2000, संजय कुमार, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, कुरुक्षेत्र
  • प्रताप सहगल के साहित्य में राष्ट्रवाद का स्वरूप, (पी एच डी)-2009 बंगलौर विश्वविद्यालय, बंगलूरू
  • अन्वेषक: एक विश्लेषात्मक अध्ययन, केरल विश्वविद्यालय, थीरूवनंतपुरम
  • प्रताप सहगल के उपन्यास ‘प्रियकान्त’ में समसामयिक विसंगतियाँ, (एम फ़िल)-2011, फ़्लाविया डिसूज़ा, दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा, धारवाड़ (कर्नाटक)
  • अनहद नाद में चित्रित विभाजन की त्रासदी, (एम फ़िल), मधु चौहान, 2008 कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, कुरुक्षेत्र।
  • प्रताप सहगल के सम्पूर्ण साहित्य पर केरल विश्वविद्यालय, पुणे विश्वविद्यालय तथा अन्य कई विश्वविद्यालयों में शोध कार्य जारी।
  • प्रताप सहगल के नाटक ‘अन्वेषक’ पर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा कालीकट विश्वविद्यालय में एक राष्ट्रीय सेमिनार।

मंच पर

  • देश भर में महत्त्वपूर्ण निर्देशकों यथा सतीश आनंद, रवि बासवानी, राजा बुंदेला, सुभाष सहगल तथा अखिलेश अखिल आदि द्वारा निर्देशित सभी नाटकों का बार-बार मंचन
  • 2003 में अन्वेषक का परिषद रंगमंडल द्वारा कई बार मंचन और फ़िर इसी वर्ष संगीत नाटक अकादमी द्वारा आयोजित अपने रंग-स्वर्ण समारोह में विशिष्ट राष्ट्रीय नाटकों में शामिल

अन्य

  • अध्यक्ष: गवाक्ष (साहित्य एवं कला मंच)
  • अध्यक्ष: रंगसमूह नाट्यग्रुप, दिल्ली
  • सदस्य: सलाहकार समिति, साहित्य कला परिषद, दिल्ली सरकार
  • उपाध्यक्ष: आकार नाट्यग्रुप
  • सदस्य: आथर्स गिल्ड आफ़ इंडिया, भारतीय लेखक संगठन, इंडियन सोसायटी आफ़ आथर्स, अनुसंधान परिषद (दिल्ली विश्वविद्यालय)
  • पूर्व संयोजक: संवाद, दिल्ली
  • अध्यक्ष: फ़ोर्ज (एन ओ जी)
  • महासचिव: फ़ारवर्ड
  • सदस्य कार्यकारिणी : डा रत्नलाल शर्मा स्मृति न्यास
  • साहित्य कला परिषद, केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय, डा रत्नलाल शर्मा स्मृति न्यास तथा कुसुमांजलि फ़ांडेशन द्वारा दिए जाने वाले सम्मानों के लिए समय-समय पर निर्णायक मंडल के सदस्य।
  • कई सामाजिक एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ सक्रिय रूप से संबद्ध
  • अनेक कविताओं और नाटकों का रेडियो एवं दूरदर्शन से प्रसारण। देश के विभिन्न शहरों में नाटकों का कई बार सफल मंचन। कई नाटक और कविताएँ
  • अंग्रेज़ी, बंगला, मराठी, गुजराती, उर्दू पंजाबी नेपाली, बर्मी, स्पेनिश और बल्गारियाई आदि भाषाओं में अनूदित और प्रकाशित/प्रसारित।
  • परिवार: डा शशि सहगल (पत्नी) कवयित्री, कथाकार, समालोचक एवं अनुवादक। माता सुन्दरी कालिज (दिल्ली विश्वविद्यालय) में हिन्दी विभाग में एसोसिएट प्रोफ़ेसर के पद से 2009 में सेवा-निवृत्त।
  • बेटी: शालिनी मदान, धीरज मदान से विवाहित, मृगांक और हेमांक दो बच्चे। डी ए वी स्कूल में पी जी टी कामर्स
  • प्रशांत सहगल: एम सी ए। एक बहुराष्ट्रीय कंपनी, गुड़गाँव में सीनियर पद पर कार्यरत

संपर्क

  • घर: एफ़-101, राजौरी गार्डन, नई दिल्ली-110027
  • फ़ोन: 011-2510056, 0981638563
  • Email: partapsehgal AT gmail.com
  • Website: www.partapsehgal.com